समर्थक

31 July, 2010

"चर्चा बच्चों के ब्लॉगों की-9" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")


एक सप्ताह के बाद बच्चों के ब्लॉगों के साथ
मैं (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")
आपकी सेवा में आज फिर हाजिर हूँ !

------------------
आज पहली चर्चा है -Fulbagiya की
*खबर एक फ़ैली जंगल में*** *मर गये अपने राजा शेर*** *गुफ़ा के भीतर उल्टे हो कर*** *पड़े हैं अपने राजा शेर।*** *खबर एक------------।*** *भागे सभी जानवर सुन के...


------------------
आज दूसरी चर्चा है - आदित्य (Aaditya) की
अभी तक तो लेपटोप पर जू जू, एनिमल्स और पोएम्स देखता था.... अभी कुछ दिनों से बाबा मुझे व्हाईट व्हाईट (MS word का खाली पेज) दे देते है.. और में मजे से की बोर्.....
------------------
और यह रही आज की तीसरी चर्चा-
सूरज कि रौशनी मे बारिश होने पर इन्द्रधनुष निकलता है.. चाँद कि रौशनी मे बारिश होने पर भी वो निकलता होगा ना? हाँ!! जरूर निकलता होगा.. मगर रात कि कालिमा उसे उ...
चौथे नम्बर की चर्चा में है-
कविता मोर आया मोर आया देखो रंग बिरंगा मोर आता हैं | बच्चे देखकर करते हैं शोर|| मोर आते हैं बच्चों के शोर से| बच्चे देखकर करते शोर|| एक बच्चे ने मोर को पकड़ा| बच्चे करने लाग..
------------------
पाँचवे स्थान पर चर्चा करते है-
*** आज मैं बहुत खुश हूँ. आज मेरी ममा का बर्थ-डे है. आज तो मैं सुबह-सुबह ही जग गई और ममा को किस करके बर्थ-डे विश किया. फिर एक प्यारा सा बुके और कार्ड भी दिय...
------------------
 छठी पायदान पर आज है-
*आज 30 जुलाई को मेरा जन्मदिन है। जन्मदिन की बात आती है तो ‘हैप्पी बर्थडे टू यू‘ गीत जरुर याद आता है. कभी सोचा है कि आखिर ये प्यारी सी पैरोडी आरम्भ कहां से...
------------------
 बच्चों के ब्लॉगों की चर्चा में-
माधव को भला कैसे भूल सकते हैं?
------------------
 यह ब्लॉग भी तो बच्चों का ही है-
आसमान में कितने तारे? -** ** ** ** ** * *** *मौलिक विज्ञान लेखन * आसमान में कितने तारे ? विश्वमोहन तिवारी *प्राक्कथन* आज का युग विज्ञान और प्रौद्योगिकी का है। यदि हम चाह...
------------------

एक बहुत सुन्दर बाल कविता 

-श्याम सुन्दर अग्रवाल काले रंग का कौवा होता, काली ही कोयल होती । कोयल का सम्मान करें सब, कौवे की दुर्गति होती । रंग से कुछ फर्क न पड़ता, पड़े ..

------------------
सरस पायस की गुनगुन सरस पायस के रवि अंकल ने गुनगुन के लिए कुछ बहुत ही अच्छा लिखा है .....आप सब भी मजा लीजिये ........ गुनगुन करती आई गुनगुन : सरस चर्चा ( 7 )...

------------------
हैप्पी बर्थ-डे ऋत्विक्
 पता है शनिवार को ऋत्विक भैया का बर्थडे था। बारिश बहुत हो रही थी। मैंने सोचा कौन इत्‍ती दूर तक जाएगा इसलिए ऋत्विक भैया को ही बुलवा लिया। कहा यहीं आईये बर..
------------------
-House sparrow is a small bird. This is one of the most abundant and common birds in the world. But due to human impact even this species is facing danger.....
------------------
 आज हमने कैमरा पा लिया और पिताजी की अनुमति से कई फोटो भी खींचीं। हम घर में अपने सभी बड़ों को फोटो खींचते देखते थे तो हमारी भी बहुत इच्छा होती थी फोटो खींचने ..
जंगल की पुकार कितना हरा भरा हूं मैं । कितना खिला खिला हूं मैं। मेरे अंदर इक संसार। पक्षी उड़ते पंख पसार। भांति- भांति के पशु यहां। जड़ी बूटियां यहां वहां।.
------------------
एक न छिपकली थी , उसके बहुत सारे फ़्रैण्डस थे । पता है उसके फ़्रैण्ड्स कौन थे ? कौन थे ...? चूहे...... चूहे छिपकली के फ़्रैण्डस थे ...? हां , और वो सब मिल...
------------------
*गैस सिलेण्डर कितना प्यारा।* ** *मम्मी की आँखों का तारा।।* *रेगूलेटर अच्छा लाना। * ***सही** ढंग से इसे लगाना।।* * * ***गैस सिलेण्डर है वरदान। * *यह रसोई-घर ...
------------------
और अन्त में- 
पुस्तक:*बाल साहित्यकार कौशल पाण्डेय* *सृजन और संवाद*** स.....

9 comments:

  1. भोली भली.. मस्त चर्चा...

    ReplyDelete

  2. यह देख कर अच्छा लगता है कि बच्चों के इतने सारे और इतने प्यारे ब्लॉग बन चुके हैं। परिचय कराने का शुक्रिया।

    …………..
    प्रेतों के बीच घिरी अकेली लड़की।
    साइंस ब्लॉगिंग पर 5 दिवसीय कार्यशाला।

    ReplyDelete
  3. बच्चों की अलबेली दुनिया..शानदार चर्चा...पाखी की दुनिया और बाल-दुनिया की चर्चा के लिए आभार.

    ReplyDelete
  4. शानदार चर्चा |

    ReplyDelete
  5. are waah! mujhe to maaloom hi naheen tha ki bachchon ke itane saare blog hain
    dhanyavad

    baal charcha manch men meree kavita shamil karne ke liye bahut bahut dhanyavad

    ReplyDelete
  6. बच्चों की चर्चा तो बच्चों जैसी ही प्यारी और मासूम होती है………………बेहद सुन्दर्।

    ReplyDelete
  7. रंग रंगीली ..प्यारी प्यारी चर्चा

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin