समर्थक

23 July, 2010

"चर्चा बच्चों के ब्लॉगों की-8!" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

बच्चों के ब्लॉगों के साथ भी पक्षपात
मॉडरेशन की मार! 
चोर की दाढ़ी में तिनका!
"आत्मप्रकाशन" मन की हार!!
------------------
आज की पहली चर्चा है -



क्या बात है मेरे लाल : सरस चर्चा ( 6 ) आज की इस चर्चा में अधिक तो नहीं दे पा रहा हूँ! पर जो भी दे रहा हूँ, उसे सरस करने की पूरी कोशिश की है! आजकल सबसे अधिक चर्चा में है : पाखी! कोई उसके लिए ...

------------------
आज की दूसरी चर्चा है - 

“मेरा झूला” (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”) -*मेरा झूला बडा़ निराला! * [image: [22022009272.jpg]] *मम्मी जी ने इसको डाला।* *मेरा झूला बडा़ निराला।।* * * *खुश हो जाती हूँ मैं कितनी,* *जब झूला पा जाती ...
------------------
और यह रही आज की तीसरी चर्चा-


ब्लोक्स को जोड़ कर आदि को मीनार बनाना पसंद है.. और उसके लिए कितने प्रयास कर सकता है.. इस विडियों में... खेल खेल में आदि बहुत बड़ा संदेश दे गया... कल वि...------------------
चौथे नम्बर की चर्चा में है-

वेल्लोरा? -तमिल व्याकरण में किसी भी प्रश्न पूछने के लिए अंत में 'आ' का प्रयोग किया जाता है.. जैसे 'पुरंजिदा' का मतलब 'समझ गए?' होता है.. ठीक इसी तरह अंग्रेजी के शब्दो..
------------------
पाँचवे स्थान पर चर्चा करते है-

कविता :गाते गान गाते गान थोड़ी सी ठंडक हुयी बारिश की बूंदे आयीं सूखी धरती पर हरियाली आयी सभी खगों में खुशियाँ छायीं निकले सारे खग गाते गान अगुलियों से करें इशारा बच्चे देखें..
------------------
 छठी पायदान पर आज है-

ममा का बर्थ-डे 30 जुलाई को है. बस एक वीक और बाकी है. सब कुछ तैयारी तो हो चुकी है, पर अभी तक यह नहीं सोच पाई हूँ कि ममा को उनके इस बर्थ-डे पर क्या गिफ्ट दू..
------------------
 बच्चों के ब्लॉगों की चर्चा में-
माधव को भला कैसे भूल सकते हैं?

२५ जुलाई को टी वी पर पहली बार थ्री इदियट्स फिल्म आ रही है .इस फिल्म का गाना आल इस वेल मुझे बहुत पसंद है . जब भी ये गाना टी वी पर आता है , कही भी हूँ दौड़..
------------------
 यह ब्लॉग भी तो बच्चों का ही है-

नमस्कार बच्चो आज की यह कविता आपके लिए भेजी है* **निखिल कुमार झा* जी नें । आप भी देखिए जादुगर का जादु और बताना जरूर कि कविता का जादु कैसा लगा । मुझे तो पधकर...
------------------


एक बहुत सुन्दर बाल कविता 

यहाँ भी है-

भारतीय नागरिक - Indian Citizen

काले मेघा आये रे

काले मेघा आये रे
सबके मन को भाये रे
झूम झूम के नाचे मुनिया
सब का मन हरषाये रे.....
------------------



एक न छिपकली थी , उसके बहुत सारे फ़्रैण्डस थे । पता है उसके फ़्रैण्ड्स कौन थे ? कौन थे ...? चूहे...... चूहे छिपकली के फ़्रैण्डस थे ...? हां , और वो सब मिल...


------------------
और अन्त में- 

स्कूलों में शिक्षकों द्वारा बच्चों को पीटने की घटना आम है। हालांकि अब इसमें काफी हद तक कमी आई है। बावजूद इसके अब बच्चों को पीटना आसान नहीं होगा, क्योंकि अब...

7 comments:

  1. थैंक्स..

    पता नहीं "आल इज वेल" क्यों मिस हो गया.. यहाँ मिल गया..

    ReplyDelete
  2. बच्चों की चर्चा तो बहुत ही मनभावन होती है…………आभार्।

    ReplyDelete
  3. बच्चों के ब्लॉगों की
    सबसे बढ़िया चर्चा तो यहीं होती है!

    ReplyDelete
  4. दिल को छू गयी! बहुत सुन्दर चर्चा!

    ReplyDelete
  5. लगता है आप मुझे फिर से बच्चा बना कर ही छोड़ेंगे..
    बहुत बहुत धन्यवाद, मुझे पुनः बच्चा बनाने के लिए.. :)

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin