समर्थक

14 July, 2010

"ये बच्चे प्यारे-प्यारे है!" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

------------------

सबकी आँखों के तारे हैं!
ये बच्चे प्यारे-प्यारे है!!

------------------

सबसे पहले देखिए-
आज तो मम्मी ने गाने के चक्कर मे किचेन का बुरा हाल कर रखा है.....


------------------

अब देखिए बचपन को- 

*समझण / दीनदयाल शर्मा* 
सुसरो जी बहु सूं बोल्या- 
बीनणी तंू आपरी सासू रो बुरौ ना मानी 
अर आ' ना सोची कै ईं रै बोलण री आ'
के तमीज है आ' बापड़ी मीठी तो ईं कारण ...

------------------
अब देखिए-

सबसे बेहतर मेहतर


 

------------------
नन्हे सुमन भी देख ही लीजिए-
 patti1


बीत गई सभ्यता पुरानी, 

लकड़ी की पाटी होती थी, 
बची न उसकी कोई निशानी।।
------------------
देखिए तो सही 
सरस पायस पर रवि मुस्करा रहा है!
 सूरज आया, सूरज आया। 
वह तो सबके मन को भाया। 
सूरज आया, सूरज आया। 
अपनी धूप साथ में लाया। 
सूरज आया, सूरज आया। 
खूब पसीना सबको आया। 
 सूरज आया... 


------------------
बहुत-बहुत मुबारक पाखी की दुनिया की
निराली अक्षिता (पाखी) को-
*अक्षिता पाखी** हिंदी ब्लॉग जगत की एक ऐसी मासूम चिट्ठाकारा, 
जिसकी कविताओं और रेखाचित्र से 
**ब्लोगोत्सव की शुरुआत** हुयी 
और सच्चाई यह है कि उसकी रचनाओं की ... 
------------------

एक बार मम्मी किचन में खाना बना रही थी और पता है क्या हुआ ? 
क्या हुआ ......? 
मम्मी नें प्रेशर कुक्कर खोला 
तो उसमें से क्लाऊडस निकलने लगे । 
फ़िर...........? फ...

------------------

नन्हा मन पर देखिए-


चूचू जब भी पढने जाए चुपके से चिण्टी वहां आए करदे रूम की बत्ती बन्द छुप कर लेने लगे आनन्द अंधियारे में करे शैतानी कॊपी पर वो डाले पानी दबे पांव बाहर को जाए क...  
------------------
अरे वाह? 
यहाँ भी तो बच्चों के लिए कुछ है-



जिस राह से गुजर कर उसके दीवाने हो गए उस राह से गुजरे हुए कितने जमाने हो गए कालेज की बाते मुझसे मत किया करो मेरे 'उसके' किस्से बरसो पुराने हो गए ...  
------------------

BAL SAJAG पर लीजिए बरसात का मज़ा!

बरसात का मौसम बरसात का मौसम बड़ा सुहाना । 
देता शीतल हवा और ठंडक ॥ 
बरसात का अब मौसम आया । 
बादल गरजा बरसा पानी ॥ 
खूब मजे से बच्चे नहाए । 
बरसात का मौसम बड़ा ... 
------------------
मनुष्य कितनी गर्मी सह सकता है? 
इस प्रश्न का उत्तर 
भिन्न-भिन्न देशों व क्षेत्रों के लोगों के लिए अलग-अलग हो सकता है। 
भारत व दक्षिणी देशों के लोग जितनी गर्... 

------------------



माधव ने लगाया है 


एक यात्रा संस्मरण!

पिछले हफ्ते मम्मी के साथ मेट्रो से कही गया . 
मेट्रो में बहुत मजा आया . 
अगले दिन फिर मम्मी से मेट्रो में चलने की जिद की . 
"ट्रेन छुक छुक " कह कर रोने लगा . ...


------------------


Visit Us @ www.MumbaiHangOut.Org 
Some people come into our lives and quickly go. 
Some stay for awhile and leave footprints on our hearts. 
And we are never, ever the same..
------------------
 अब देखिए

एक प्यारी-सी ब्लॉगपरी


इससे मिलकर आपको मिलेगी - ख़ुशी

लविज़ा | Laviza कहती हैं

5 जुलाई को भारत बंद होने की वजह से मैं स्कूल जा नहीं पायी, 
एक दिन मिस हो गया 
लेकिन अगले दिन बिना मिस किये 
मैं अपने प्ले स्कूल पहुँच गयी. पहला दिन...
------------------
और अन्त में मिलते हैं-

नमस्ते, आप सभी को एक दो अच्छी खबरें देना है। 
हमारे बारे में हमारे पिताजी और मम्मा की तरफ से ब्लॉग पर काफी कुछ बताया जाता है। 
इधर अब हम आपसे परिचय का क्षेत..
------------------

9 comments:

  1. बच्चों के ब्लॉगों की खूबसूरत चर्चा...बधाई.

    _________________________
    अब ''बाल-दुनिया'' पर भी बच्चों की बातें होंगी, बच्चों के बनाये चित्र और रचनाएँ होंगीं, उनके ब्लॉगों की बातें होगीं, बाल-मन को सहेजती बड़ों की रचनाएँ होंगीं और भी बहुत कुछ....आपका स्वागत है.

    ReplyDelete
  2. यहाँ तो बच्चों का बहुत ही प्यारा संसार सजा हुआ है……………सच बहुत ही प्यारे प्यारे बच्चे हैं।

    ReplyDelete
  3. अरे वाह जी वाह सभी बच्चे एक साथ बहुत मजे दार बात है जी, सभी बच्चो को बहुत बहुत प्यार

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्छा लगा.

    ReplyDelete
  5. एक बेहद उम्दा पोस्ट के लिए आपको बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
    आपकी चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है यहां भी आएं

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर रंग बिरंगे ब्लोग्स से सजी चर्चा

    ReplyDelete
  7. मजा आ गया हम बच्चों की बातें देखकर. 'पाखी की दुनिया' की चर्चा के लिए आपको ढेर सारा प्यार व आभार.
    _____________________
    'पाखी की दुनिया' के एक साल पूरे

    ReplyDelete
  8. बहुत ही बढ़िया चर्चा है ... मेरे सारे साथी यहाँ पर मिल गए ...

    ___________
    My new post 'Father's Day Card' and 'Cowboy'

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin