समर्थक

28 November, 2010

"इधर हम व्यस्त हैं बहुत -- काम अधिक जो है!" (बाल चर्चा मंच-29)

आज मम्मा-पापा के हैपी वेडिंग डे को 6 साल पूरे हो गए. आज हम लोग ददिहाल से बनारस और फिर कोलकात्ता पहुंचेंगें. लगता है मम्मा-पापा की वेडिंग एनिवर्सरी फ़्लाईट म...
बाल चर्चा मंच की ओर से बहुत-बहुत शुभकामनाएँ।
------------------
अब देखिए!
-*विद्यालय अच्छा लगता,* 
*पर डस्टर कष्ट बहुत देता है।* 
*पढ़ना तो अच्छा लगता,* 
*पर लिखना कष्ट बहुत देता है।।* *
* * दीदी जी तो अच्छी लगतीं,* 
*पर वो काम बहुत देती...
------------------
-विवान, रिशु , इशिता, आर्ची इशिता, रिशु चंद्राभ, आर्ची, रिशु, इशितामाही, विवान, इशिता इशिता, माही
------------------
सरस पायस पर छपी है-
नन्ही-सी प्यारी गौरइया, 
मेरे घर पर आती है। 
बिखरे दानों को चुगती है, 
अपनी भूख मिटाती है। ...
------------------
------------------
देखो बनाया है मैंने ये मोर केउ केउ का यह करता शोर
------------------
------------------

लविज़ा : एक प्यारी-सी ब्लॉगपरी
आज-कल कलरिंग का शौक चढ़ा हुआ है. हर वक़्त कलर पेंसिल और कलर बुक मेरे पास ही होती है. रात को मम्मा जब सुलाने की कोशिश करती हैं, तो भी मुझे कलर ही करना होता ...
------------------
-मम्मी देखो सूरज निकला कई दिनों में धूप खिली है। घुमड़-घुमड़ कर काले बादल बारिश कर जाते थे झर-झर। हम कोनों में छिप जाते थे आँधी बिजली से डर-डर कर। जान...
------------------
  • कल छत पर ऋतू दीदी के साथ खेल रहा था . दौड़ते दौड़ते गिर पडा , फर्स पक्के का था सो नाक पर चोट लग गयी . तेज दर्द हुआ , रोने लगा ,पापा दौड़े हुवे छत पर आये ,...
----------
इधर हम व्यस्त हैं बहुत -- काम अधिक जो है -इन दिनों हम बहुत ही व्यस्त रहे। पहले तो जैसा कि आपको पता ही है कि हमारे पिताजी का चुनाव चल रहा था। इसके तुरन्त बाद हमारी पूजा बुआ जी लखनउ से आ गईं। उनके आन...
------------------
राष्ट्रीय पुस्तक सप्ताह -*राष्ट्रीय पुस्तक सप्ताह एवं बटुकेश्वर दत्त जन्मशती के अवसर पर*** * पुस्तकों का लोकार्पण संपन्न *** *कामरेड बटुकेश्वर दत्त जन्म **“**शताब्दी के अवसर पर ...
------------------
तीन से भाजन की रोचक बाते Division by Three -*तीन से भाजन की रोचक बाते Division by Three* *1.**कोई भी संख्या जिस के अंकों का योग तीन से विभाजित होता है वह संख्या भी तीन से विभाजित होगी * *जैसे ,* *1035...
---------------------
रूद्र कल दादी और चाचू को रेलवे स्टेशन छोड़ कर आया . दादी भावुक हों गई थीं . आज स्कूल से घर लौटने पर रूद्र ने बल्कानी में देखा और फिर पापा मम्मी को देखा ...
----------------------
हर तरफ...बर्फ ही बर्फ...! अरे आप रुकिए.... जाइए नहीं ... यह मैं ही हूं चैतन्य | अभी-अभी स्कूल से आया हूं पर गाड़ी से बहार निकलने का मन नहीं कर रहा है क्योंकि चारों तरफ स्नो ही स...

-----------------
आज आप सबको मैं एक गाना सुना रही हूँ . यह गाना मेरी फेवरेट हिंदी मूवी थ्री इडियट्स का है .मैंने इसे कई बार देखा है .सब लोग मुझे कहते है कि जाने मुझे क्या ...
------------------
सवाल रामेश्वर काम्बोज ‘हिमांशु’ प्यारा-प्यारा चंदा मामा लिए साथ में आता तारे पंख लगाकर सूरज आता रोज सवेरे पास हमारे तितली को सुन्दर रंगो के ये कपड़े प...

------------------
कैसी दिखती थीं रानी लक्ष्मीबाईरानी लक्ष्मीबाई के नाम से भला कौन अपरिचित होगा. आज ही के दिन उनका जन्म हुआ था. पर क्या कभी आपने सोचा है कि वे दिखती कैसी रही होंगीं. तो चलिए इस बार आपको उन...
------------------
------------------
-toffy आजकल कुछ ज्यादा ही हों जा रहा है....
अब इस पेट-दर्द का क्या करू....
--------------------------
और अन्त में-
-----------------------

पता है....आज मेरी मम्‍मा का जन्‍मदिन है। वैसे तो दो ढाई साल की छुट्टियों के बाद मम्‍मा अब ऑफिस जाने लगी हैं। और मुझे कुछ घंटों के लिए 'बेबी सिटिंग' वाल...

LinkWithin