समर्थक

15 November, 2010

"बालदिवस" (बाल चर्चा मंच-28)

राष्ट्र-नायक पं. नेहरू को शत्-शत् नमन!!
चर्चा मंच पर पोस्ट बहुत ज्यादा हो जाती है!
इसलिए अक्सर नन्हे-सुमनों की
चर्चाएँ छूट जाती हैं!
आज चर्चा का बालदिवस अंक
के पटल पर प्रस्तुत कर रहा हूँ
------
!
-आज बाल-दिवस है. मम्मा बता रही थीं कि आज ही हमारे प्रथम प्रधानमंत्री
नेहरु चाचा का जन्म हुआ था. वे हम बच्चों से बहुत प्यार करते थे और बच्चे उन्हें प्यार से...
------------------
अब देखिए!
- बाल दिवस त्यौहार हमारा, हम तो इसे मनाएंगे।
चाचा नहेरू जैसा बनकर, जग में नाम कमाएंगे।।
आज हमें पूरी आजादी, करना कोई काम नहीं,
लेकिन हमें मुफ्त में फ...
------------------

* *मेरे देश के कल ,* *मेरे प्यारे वत्सल, *
*सब कह रहे हैं कि,* *आज ही दिवस ,* *तुम्हारा है ॥॥*
*मैं कहता हूं ,* *कि ये दिवस , ये माह,*...
------------------
नन्ही कोपलआपको बता रहीं हैं
बचपन के बारे में!
- बचपन के दिन बहुत ही प्यारे होते है न कोई फिक्र होती है
न कोई चिंता होती है कहते है बच्चे कच्ची मिट्टी के समान होते है
उन्हे जिस रुप में ढालो वे ढल जाते है...
------------------
- आप सभी को बाल दिवस की अनेक शुभकामनायें ...
चाचा नेहरु का जन्मदिन सबको मुबारक हो ...
मैंने बनाई है उ
नकी तस्वीर ...
------------------
-आज बाल दिवस है......
यानि हम बच्चों का दिन.......
मेरे सभी नन्हे दोस्तों को बाल दिवस की शुभकामनाएं......
मेरी इस बाल फोटो के साथ...............
------------------
------------------
मैंने अपनी पिछली पोस्ट में मेरे स्कूल जाने और पढ़ाई लिखाई की शुरुआत के बारे में बताया
तब ही मुझे यह बात याद आई की मैने आपको अपनी पढ़ाई की शुरुआत का विशेष द...
------------------
- Life is so free, yet so restricted, From all happiness I am evicted.
The earth is so full, yet so much more empty, I sit in silence as all eyes...
------------------
----------

पार्थवी बता रहीं हैं!
*अंतर्जाल विचरण के दौरान कुछ मजेदार चित्र हाथ लगे आप भी देखें |
इन को देख कर हँसते जाना है बिना रुके |** ...
------------------

-सात नवंबर को पंखुरी ने एक बहुत स्पेशल बर्थ डे पार्टी अटेण्ड की,
उसकी प्यारी रुनझुन दीदी की बर्थ डे पार्टी !
इस पार्टी की एक स्पेशियेलिटी ये भी थी कि इसमें ...
------------------
-फिलहाल आरा में हूँ .
दादाजी के पास . खूब मजा आ रहा है
---------------------
पहेलियाँ देखिए!
1.कान नहीं हैं, नाक नहीं है, सीने पर कई दांत।
बिन मुख गाऊँ सभी राग मैं, सदा करूँ रसीली बात।
2.सूरज-सा मेरा नाम है, उस सा ही रूप बनाऊँ। उसकी ओर ही ...
----------------------
- काऊ (गाय) को रोटी और घास खिलाना जोधपुर में मेरा पसंदीदा काम है....
सुबह अगर कोई काऊ का नाम ले ले तो एक दम उठ कर तैयार हो जाता हूँ..
काऊ को रोटी खिलाने......
-----------------------
और अन्त में-
-----------------------
- सुन्दर-सुन्दर गाय हमारी।
काली गइया कितनी प्यारी।।
black cow_1
जब इसको आवाज लगाओ।
काली कह कर इसे बुलाओ।।

तब यह झटपट आ जाती है।
अम्मा कह कर रम्भाती है।।...

7 comments:

  1. एकदम बाल मन सी प्यारी सी चर्चा.आभार.

    ReplyDelete
  2. बाल दिवस की प्यारी चर्चा..... मेरी पोस्ट को शामिल करने के लिए धन्यवाद. ....

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  4. चर्चा प्यारी है.पहली पोस्ट मेरी ही.

    अपना प्यार और आशीष यूँ ही देते रहिएगा.

    ReplyDelete
  5. बहुत सुन्दर बाल चर्चा नानाजी ...आभार
    अनुष्का

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर बाल चर्चा..... बधाई स्वीकारें

    चैतन्य को शामिल करने के लिए आभार

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin