समर्थक

11 October, 2010

"चंचल दीदी का जन्मदिन" बाल चर्चा मंच-22 (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

------------------
चर्चा मंच पर पोस्ट बहुत ज्यादा हो जाती है!
इसलिए अक्सर नन्हे-सुमनों की
चर्चाएँ छूट जाती हैं!
-------------------
आज प्रस्तुत है-
बच्चों के ब्लॉगों की चर्चा का
यह 22वाँ सुमन!

------------------
आज सबसे पहले देखिए

परसों पांच तारीख को हमारे घर के सामने हमारी चंचल दीदी का जन्मदिन था। हमारी छोटी बुआ की बड़ी बेटी। हम भी गए थे वहां। बस हम घर के लोग और बच्चे थे। चंचल दीदी...
------------------
 अब देखिए -
अनुष्का व्यायाम में भी मजे कर रही हैं!
सभी बड़े लोग कहते है व्यायाम करने से शरीर में चुस्ती फुर्ती बनी रहती है और हम बच्चों के लिए तो यह और भी अच्छा है . यह न सिर्फ हमें आनन्द देता है बल्कि हम... 

------------------
के मन में क्या है ?
आप खुद ही देख लीजिए!

मन करता है पापा बन कर मैं भी अपनी मूछ बढ़ाऊँ ........
------------------

-अगर आपको ऐसा लगता है कि पंखुरी बेटी का काम केवल मस्ती करना, शरारत करना और पापा-चाचू की बाइक पर घूमना है तो एकदम गलत... , लीजिये हम अभी आपकी गलतफ़हमी दूर किय...
------------------

बाल-दुनिया में देखिए!
कृष्ण कुमार यादव के विभाग का -
आप सभी ने लेटर-बाक्स देखा होगा...लाल-लाल. अब तो हरे, पीले, नीले लेटर-बाक्स भी दिखने लगे हैं. ये लेटर बाक्स चिट्ठियों को एक जगह से दूजी जगह ले जाने के लिए आ...

------------------

------------------
नवरात्रों के पावन दिन हों तो-
चैतन्य भला माँ को प्रणाम करना 
कैसे भूल सकता है?
*सबसे पहले तो सबको नवरात्री की हार्दिक शुभकामनायें.......
इन दिनों चारों और नवरात्री उत्सव की धूम है | 
कहीं डांडिया रास तो कहीं पूजा और जागरण | 
सभी लोग मात...

------------------
माधव लगे हैं हौसलाअफजाई करने में
अपने देश के खिलाड़ियों की!
-दिल्ली में कामन वेल्थ गेम की धूम है . ओपनिंग सेरोमोनी देख कर ही सारा विश्व इंडिया- इंडिया कर रहा है . मै भी अपनी टीम को चीयर करने के लिए सोमवार ( 11/X/2010...

------------------

sparsh जी
sun bath का भी 
मौसम आने वाला ही है! 
-ये आराम का मामला है.....
------------------

में माँ की ममता को प्रकट करते हुए कहते हैं!
माँ होती है सबसे प्यारी 
कभी न छोड़े साथ हमारा, 
इस दुनिया में सबसे न्यारी! 
हमको प्यार बहुत करती है, 
माँ होती है सबसे प्यारी! 
रावेंद्रकुमार रवि
------------------

पर देखिए यह सुन्दर कविता!
रेल चली रेल चली रेल चली , 
छुक छुक करती रेल चली .... 
डग मग करती रेल चली, 
एक डिब्बे में पहिये होते चार.... 
लोग बैठे होते एक हजार, 
उसमे से आधे होते गरीब.... 
------------------
आप भी इनकी खुशी में शामिल हो जाइए ना!
** * * * * *आज पापा के गॉगल्स को ही ट्राई किया जाए कि आखिर ये लगता कैसे है ...ऐसे ट्राई करती हूं पहले ..* * * * * * * *ओहो चलो इस एंगल से ट्राई कर लेती हूं...

------------------
अंडमान में देखिए 
अंडमान में घूमने-फिरने का खूब मजा है. पिछले दिनों मैं मम्मा-पापा के साथ डिगलीपुर गई. पापा ने बताया यह दक्षिण अंडमान का सबसे अंतिम क्षोर है. पापा को आफिस वि...


------------------
और अन्त में 
नन्हे सुमन में देखिए 
गधे की व्यथा कथा को-
कितना सारा भार उठाता।
लेकिन फिर भी गधा कहाता।।
मैं सीधा-सादा प्राणी हूँ, 

घूटा और घास हूँ खाता। 
जब भी ढेंचू-ढेंचू करता, 
तब-तब मालिक मार लगाता।।...




13 comments:

  1. कविताएँ से ले कर यात्रा वृतांत, ये बच्चा पार्टी तो बड़ी creative लगती है ... बदिया संकलन, जुटे रहिये ...

    ReplyDelete
  2. वाह जी, वाह! कितनी सुंदर चर्चा है!
    "सरस पायस" पर से पूरी पोस्ट उठाकर
    चर्चा में शामिल करने के लिए आभारी हूँ!

    ReplyDelete
  3. हम बच्चों की इतनी सुंदर चर्चा के लिए आभार

    मुझे शामिल करने के लिए... धन्यवाद

    सबको नवरात्री की शुभकामनायें

    ReplyDelete
  4. ब्लॉगजगत में आज देखी गई सबसे प्यारी पोस्ट ..तो अतिशयोक्ति नहीं होगी शायद ..बहुत बहुत शुक्रिया शास्त्री जी ..इसे तो बुकमार्क कर लिया है ..बच्चा पार्टी जिंदाबाद

    ReplyDelete
  5. bahut sundar charcha...
    ishita ki charch ke liye aabhar...

    ReplyDelete
  6. हम बच्चों की इतनी सुंदर चर्चा के लिए आभार
    मुझे शामिल करने के लिए धन्यवाद

    ReplyDelete
  7. बच्चों के ब्लोग्स की सुन्दर चर्चा

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर बाल चर्चा………अच्छे लिंक्स लगाये हैं।

    ReplyDelete
  9. इत्ती प्यारी चर्चा के लिए आपका आभार व प्यार.

    ReplyDelete
  10. बाल चर्चा मंच का आविष्कार बहुत सराहनीय है ,
    सभी बच्चों को अपना मंच देने के लिए बहुत बहुत बधाई |
    आशा

    ReplyDelete
  11. aadarniy sir
    aapkayah bal chrcha manch to bahut hi bhaya.yahi to hi hamare desh ki shan badhane wale honhar.
    bahut hi maja in nanahe -munno se milkar.
    iska bhi shrey aapko hi jata hai
    pranaam
    poonam

    ReplyDelete
  12. सुंदर चर्चा के लिए आभार

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin