समर्थक

22 March, 2011

सत्यार्थ प्रकाश-प्रथम समुल्लासःअंक-2

सत्यार्थ प्रकाश पढ़ने वाले 
सभी पाठकों को मेरा अभिवादन!
मित्रों!
कल आपने सत्यार्थ प्रकाश की भूमिका पढ़ी थी!
आज पढ़िए, इसके प्रथम समुल्लास का कुछ अंश!


आगे का भाग कल पढ़िए-

2 comments:

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin