समर्थक

25 February, 2011

"वाह समोसा..." (बाल चर्चा मंच-34)


  चर्चा मंच पर पोस्ट बहुत ज्यादा हो जाती है!

इसलिए प्यारे-प्यारे नन्हे-सुमनों की
चर्चाएँ अक्सर छूट जाती हैं!
-------------------
काफी दिनों के बाद आज प्रस्तुत है-
बच्चों के ब्लॉगों की चर्चा का 34वाँ अंक! 

------------------

आज सबसे पहले "लाडली" बेटियों के ब्लॉग 

की अद्यतन पोस्ट को लेते हैं

 तुम बहुत अच्‍छी हो ....

कभी मां गौरेया कहती,

कभी कहती नन्‍हीं चिडिया

कभी कहती शैतान

मां के यह प्‍यारे

सम्‍बोधन सुनकर

मैं रह जाती हैरान.....

------------------
 अब चलते हैं नन्हे सुमन की ओर

------------------

पाखी की दुनिया में पाखी बता रहीं है कि-

पिछले रविवार को मैं ममा-पापा और तन्वी के साथ हैवलाक घूमने गई थी तो वहाँ एलीफैंट-राइडिंग का भी मजा लिया. पहले जो जब मुझे पता चला कि संडे को राधानगर बीच पर ....
------------------
 अब चलते हैं सरस पायस की ओर
यहाँ पढ़िए 
और साथ में आनन्द लीजिए
-----------------
 अब बाल सजग में पढ़िए!

भट्ठों के हलात जब भट्ठों में ईंटा बनता हैं , 
तब बच्चा- बच्चा साँचा भरता हैं ..... 
नन्हे- नन्हे हाथो से बच्चे , 
ये हैं बिलकुल दिल से भोले सच्चे .......
लेखक - सोनू       
कक्षा - ९ 
अपना घर ,कानपुर 
------------------

------------------
-----------------
------------------
 नन्हे-मुन्ने में देखिए

स्लेज बिन पहिये की ये है गाडी 
सामान लादो या करो सवारी 
रेनडियर या कुत्ते इसको खींचते है 
इस गाडी को 'स्लेज' सब कहते हैं
------------------

लविज़ा की फोटोग्राफी : सीरीज – I

लविज़ा : एक प्यारी-सी ब्लॉगपरी
में देखिए सुन्दर-सुन्दर चित्र
DSC04428
DSC04367
------------------
और यहाँ देखिए
 बुआ नानी के यहाँ डागी के साथ रूद्र का पसंदीदा छाता रूद्र के स्कूल वाले ठीक हो गए हैं जिस दिन मम्मी को स्कूल जाना था उसी दिन अखबार में एक स्कूल के टीचर की ...
----------------

अब आपको ले चलते हैं sparsh के पास
मेरे इस चित्र में सुरज, चाँद और तारे एक साथ देख कर आपको आश्चर्य हो रहा होगा न, की अरे ये एक साथ कैसे? देखिये इसके बीच में एक काला लाइन है. इससे पता चलता ह...

------------------
में चैतन्य आपको दिखा रहे हैं

30 डिग्री तापमान और सुबह सुबह स्कूल जाना | 
बस .... बाकी तो आप सब लोग समझ ही सकते हैं | 
अपने देश में बसन्त के आते ही मौसम अच्छा हो गया पर जहाँ मैं ...
------------------



मे पढ़िये यह खुशखबरी!
पाठक मंच बुलेटिन के जनवरी 2011 के अंक में सुप्रीत की कविता छपी है । 
पाठक मंच बुलेटिन मासिक मानव संसाधन मंत्रालय 
भारत सरकार के अन्तर्गत कार्यरत 'नेशनल बु...
------------------
 और ये नन्ही परी क्या कह रहीं हैं?

'हम वो करेगे दिल जो कहे' ये मेरा नया तकिया कलाम है | कोई कुछ भी कहे मुझे तो बस वही करना है जो मेरा मन करे :D इसी बात पर देखिये मेरा ये डांस और कुछ तश्वीरे :)...
-----------------
 अक्षयांशी -- Akshayanshi कह रहीं हैं-

ये देखिये, इसे कहते हैं बादाम मिल्क। हमें ये बहुत अच्छा लगता है। आज हमारे पिताजी बाज़ार गए तो हमारे लिए इसे ले आये। हम भी आज मूड में थे तो हमने पिताजी से...
------------------



में वाकर पर यह कैन है जी!
प्यारे दोस्तों आज मैं बहुत ही ज्यादा खुश हूँ 
मम्मी- पापा, दादा- दादी घर के सब बहुत ही खुश हैं... 
क्यों???.... 
आज हम walker की मदद से चलने जो लगे किसी ने भी ...
------------------

बता रहीं हैं-
वेलेन टाइन डे पर स्कूल में तो टीचर ने 
हमें बहुत अच्छे अच्छे गाने सुनाए और सिखाए भी . 
मीस सिंडी बता रही थी कि वेलेन टाइन डे पर हम अपने बेस्ट फ्रेंड को हार्...

---------------------


में पढ़िए 
यदि तुम खेलोगे-कूदोगे तो ख़राब बन जाओगे, 
झूठी हुई कहावत यह तो, सबको ही बतलाओगे। 
पढ़ने-लिखने वाले ही क्या बस नवाब बन पाते हैं? 
खेलकूद में रहते अव्वल वे भी ना...

-----

-----------




मानसी की दुनिया
में है एक दुखद समाचार

18 जनवरी 2011 मंगलवार के दिन दादी माँ हमें छोड़कर इस दुनिया से विदा हो गयी ...
बाल चर्चा मंच की और से भावभीनी श्रद्धांजलि।


--------
---

 और अन्त में-

माधव बता रहे हैं-
मेरी दादी आज मेरी दादी (माधव की परदादी )की पुण्यतिथि है . २५ फरवरी २००९ को उनका निधन हुआ था . उनकी मृत्यु के समय माधव करीब सवा साल का था .माधव को उन्होंने...



बाल चर्चा मंच की और से 
माधव की परदादी को
भावभीनी श्रद्धांजलि।

6 comments:

  1. सुंदर प्यारी चर्चा......

    ReplyDelete
  2. आपका बहुत-बहुत आभार लाडली को स्‍थान देने के लिये ..

    और काफी सारे लिंक भी उपलब्‍ध हैं यहां तो आभार इस बेहतरीन प्रस्‍तुति के लिये ।

    ReplyDelete
  3. सुन्दर चर्चा...मेरे हाथी को दिखाने के लिए आभार और प्यार.

    मानसी की दादी के बारे में पढ़कर दुःख हुआ. माधव की परदादी की पुण्यतिथि पर भी श्रद्धांजलि.

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर चर्चा...आभार

    ReplyDelete
  5. yah baal manch holi ke rango ki tarah hi hai ,bahut sundar aur pyaari rachnaye ,holi ki badhai aapko bachcho ke saath .

    ReplyDelete

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

LinkWithin